स्मार्ट सिटी मिशन

स्मार्ट सिटी क्या है?

स्मार्ट सिटी एक ऐसा नगर है जो की पारिस्थितिकी के अनुकूल प्रक्रियाओं अथवा प्रौद्योगिकी समन्वय एवं एक कुशल तरीके से सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग के माध्यम से आधारभूत संरचना, स्वच्छ एवं धारणीय वातावरण से सुसज्जित हो जो की जीवन की पर्याप्त गुणवत्ता प्रदान करने के लिए आवश्यक हैं।

कुछ चुनिंदा शहरों को स्मार्ट सिटी में तब्दील करने के पीछे का विचार मुख्य रूप से उन स्थानों के लिए निवेशकों को आकर्षित करना है जो की निवेशकों को बुनियादी ढांचे एवं स्मार्ट समाधान के साथ सुसज्जित एक प्रभावी मंच प्रदान कर पाएं जो व्यसायों को शुरू एवं प्रभावी रूप से संचालित करने में सक्षम हों ।

उद्देश

भारत में विभिन्न शहरों को स्मार्ट शहरों में तब्दील करने के पीछे मुख्य उद्देश आर्थिक विकास की सुविधाएं उपलब्ध करा के, स्वच्छ और स्वस्थ पर्यावरण उपलब्ध करने के साथ-साथ प्रौद्योगिकी का उपयोग कर इन शहरों के लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना है ।

स्मार्ट सिटी योजना के मुख्य तत्व

स्मार्ट सिटी योजना के दो मुख्य तत्व निम्लिखित हैं :

आधारभूत संरचना:

क्यूंकि स्मार्ट सिटी योजना का मुख्य उद्देश शहर में रहने वाले लोगों के जीवन की गुणवत्ता में वृद्धि करना है, इसलिए आधारभूत संरचना इस योजना का एक महत्वपूर्ण तत्व है जिसके विभिन्न तत्व निम्लिखित हैं :

  • पर्याप्त पानी की आपूर्ति
  • सुनिश्चित विद्युत आपूर्ति
  • उचित स्वच्छता जिसमें ठोस अवशेष शामिल हैं
  • कुशल शहरी गतिशीलता एवं सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की सुविधा
  • किफायती आवास सुविधा (विशेष रूप से गरीबों के लिए)
  • मजबूत सूचना प्रौद्योगिकी संयोजकता एवं अंकरूपण
  • प्रभावी शासन, ई-गवर्नेंस एवं नागरिकों की भागीदारी
  • धारणीय वातावरण
  • उचित स्वास्थ्य अथवा शिक्षा प्रणाली सुगम एवं प्रभावी बनाना
  • नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना

स्मार्ट समाधान:

क्यूंकि स्मार्ट सिटी योजना का मुख्य उद्देश प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करके आर्थिक विकास लाना एवं जीवन की गुणवत्ता में वृद्धि करना है, इसलिए स्मार्ट सिटी योजना में स्मार्ट समाधान एक महत्सवपूर्ण तत्व हैं। इसके मूल तत्व निम्लिखित हैं:

ई-गवर्नेंस और नागरिक सेवाओं से संबंधित समाधान:

  • जन सूचना, शिकायत निवारण
  • इलेक्ट्रॉनिक सेवा वितरण
  • नागरिक भागीदारी
  • वीडियो अपराध निगरानी

अपशिष्ट प्रबंधन से संबंधित समाधान

  • अपशिष्ट से ऊर्जा एवं ईंधन रूपांतरण
  • अपशिष्ट से खाद रूपांतरण
  • अपशिष्ट जल के उपचार

जल प्रबंधन से संबंधित समाधान

  • स्मार्ट मीटर प्राप्त करना एवं उसका प्रबंधन
  • रिसाव की पहचान, निवारक रखरखाव
  • जल गुणवत्ता निगरानी

ऊर्जा प्रबंधन से संबंधित समाधान

  • स्मार्ट मीटर उपलब्ध करना एवं उसका प्रबंधन
  • ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों का प्रबंधन

शहरी गतिशीलता से संबंधित समाधान

  • स्मार्ट पार्किंग
  • यातायात प्रबंधन
  • एकीकृत बहुविध परिवहन साधन

अन्य

  • टेलीमेडिसिन और टेली एजुकेशन
  • ऊष्मायन / व्यापार सुविधा केंद्र
  • कौशल विकास केन्द्र

उत्तर प्रदेश के वह शहर जो स्मार्ट सिटी मिशन में शामिल हैं उनकी सूचि इस प्रकार है:

  • आगरा
  • अलीग
  • इलाहाबाद
  • बरेली
  • गाज़ियाबाद
  • झांसी
  • कानपुर
  • लखनऊ
  • मुरादाबाद
  • रामपुर
  • सहारनपुर
  • वाराणसी

स्मार्ट सिटी मिशन की प्रमुख विशेषताऐं इस प्रकार हैं :

  • सभी नागरिकों के लिए आवास सुविधाओं के विस्तार की योजना बनाना
  • सड़कों के नेटवर्क का निर्माण करना ना सिर्फ वाहनों और सार्वजनिक परिवहनों के लिए बल्कि पैदल यात्री और साइकिल चालकों के लिए भी जिससे पैदल चलने योग्य सड़कों से भीड़ में कमी आ पाए , वायु प्रदूषण काम हो पाए अथवा नागरिकों के लिए प्रभावी सुरक्षा सुविधाएँ स्थापित हो पाएं
  • पार्क एवं खेल के मैदान जैसे खुले और मनोरंजन स्थानों का विकास एवं संरक्षण करना जिससे नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में वृद्धि हो, शहरी गर्मी के प्रभाव में कमी आए अथवा शहर के भीतर पारिस्थितिकी संतुलन बना रहे
  • विभिन्न परिवहन विकल्प को बढ़ावा देना जैसे कि ट्रांजिट ओरिएंटेड डेवलपमेंट एवं लास्ट मयल पैरा ट्रांसपोर्ट कनेक्टिविटी इत्यादि
  • ऑनलाइन सेवाओं के उपयोग में बढ़ौतरी लाकर शासन में पारदर्शिता लाना एवं इसे नागरिक के अनुकूल बनाना
  • एक शहर को पहचान देना उसकी मुख्य आर्थिक गतिविधियों के आधार पर जैसे कि स्थानीय भोजन, स्वास्थ्य, शिक्षा, कला और शिल्प, संस्कृति, खेल के सामान, फर्नीचर, होजरी, कपड़ा, डेयरी, आदि
  • आर्थिक उन्नति के लिए बुनियादी सुविधायों में स्मार्ट समाधानों का प्रयोग करना